Sunday, February 8, 2009

व्यंग्य


6 comments:

  1. सुंदर
    भावों की अभिव्यक्ति मन को सुकुन पहुंचाती है।
    लिखते रहि‌ए लिखने वालों की मंज़िल यही है ।
    कविता,गज़ल और शेर के लि‌ए मेरे ब्लोग पर स्वागत है ।
    मेरे द्वारा संपादित पत्रिका देखें
    www.zindagilive08.blogspot.com
    आर्ट के लि‌ए देखें
    www.chitrasansar.blogspot.com

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर…आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    ReplyDelete
  3. शायरी और मिले
    तो कोई बात बने
    - विवेक भटनागर

    ReplyDelete
  4. बेटा ब्लोगिये, कभी अपुन के ब्लॉग पर भी तशरीफ लाना. लेकिन हाँ, इससे पहले अपुन का ब्लॉग बनाने का इंतज़ाम करो यार! अपुन का मन भी कुछ लिखने-पढ़ने का हो रहा है.

    ReplyDelete